सकारात्मक स्लोगन (47)

दूसरे के महल से 
ज्यादा भला है, 
अपनी झोपड़ी।
क्योंकि...
अपनी झोपड़ी में  
जीवंत रहती है,
अपनी स्वतंत्रता व
अपना स्वाभिमान।
ttps://www.facebook.com/PhulkariRenuka/
शब्द एवं चित्र
रेणुका श्रीवास्तव 
#hindiquotescollection #renukasrivastava #phulkari #gulistansahitya #renuka #lucknow #hindiwriter #hindipoem #lifestyle #motivationalquotes #motivation #motivationaldunia# hindiquotes #hindi  #India

कोई टिप्पणी नहीं: