सकारात्मक स्लोगन (11)

हमारा तिरंगा
तीन रंग व चक्र से बना तिरंगा, 
स्वराष्ट्र का अभिमान है ।
हवा में फर-२ लहरता है यह,
देश का मान बढ़ाता है तिरंगा।
एकता का आधार है यह,
स्वदेश की पहचान है तिरंगा।
प्रेम का परिधान है यह,
गगनचुंबी उम्मीद है तिरंगा।
स्वाभिमान का गौरव गान है यह,
आन-बान व शान है तिरंगा।
दुश्मन को थर्रा देता है यह,
जब हाथ में होता हैं वीर जवानों के।
शौर्य वीरों की शौर्य गाथा,
संगठित करता है सबको, तिरंगा।
सलामी देते हैं हम सब इसको,
हमें गर्व है अपना है तिरंगा।।।।

शब्द एवं चित्र
श्रीमती रेणुका श्रीवास्तव

कोई टिप्पणी नहीं: