नववर्ष किशोरों के लिए (कविता)

नववर्ष के आगमन के शुभ अवसर पर
उदितमान किशोरों के लिए - - - 

नव   वर्ष    में   नये  उमंग   से ,
महकाओं  खुशियों  का संसार।
उछल- कूद कर  धूम  धड़ाका ,
सब फूलों सा खिलते जाओ तुम।
बाटों   प्रेम   भाव   छोटों    से ,
बुजुर्गों  का  करो सम्मान बड़ा ।
मित्रवत हो व्यवहार साथियों से,
बहनों  से   हो   स्नेह  सानिंध्य ।
ऐसा हो आदर्श आचरण तुम्हारा, 
गुरुजन दे  नित आशीर्वाद नया ।
तभी होगा सफल जीवन तुम्हारा,
होगा नये वर्ष का सम्मान सुनहरा ।

No comments:

शंखनाद (कविता)